Home > Agra > प्रधान आयकर आयुक्त-2 के साथ चैम्बर की बैठक

प्रधान आयकर आयुक्त-2 के साथ चैम्बर की बैठक

करदाता समय से सही कर जमाकरें।करदाताओं की संख्या में वृद्धि करने के लिए उत्पन्न करें जागृति। 
बड़े करदाताओं को सम्मानित करे विभाग-चैम्बर।
Arjun Singh
आगरा,,,,,आज मंगलवार को नेशनल चैम्बर आॅफ इण्डस्ट्रीज एण्ड काॅमर्स, यूपी, आगरा द्वारा प्रधान आयकर आयुक्त-2 श्रीमती सीमाराज, आईआरएस व उपायुक्त आयकर श्रीमती ज्योत्सना देवी, आईआरएस के साथ एक बैठक का आयोजन होटल मधुश्री, नुनिहाई चैराहा, आगरा पर किया गया। जिसमें उद्यमियों व व्यापारियों की समस्याओं को लेकर एक 9 सूत्रीय ज्ञापन दिया गया(प्रति संलग्न)।
प्रधान आयकर आयुक्त-2, श्रीमती सीमाराज ने नेशनल चैम्बर द्वारा इस बैठक के आयोजन के लिये धन्यवाद प्रेषित करते हुए कहा कि इस प्रकार की सभाओं का उद्देश्य कम्युनिकेशन गैप को दूर करना व विभाग और करदाताओं के बीच में सामानजस्य बनाना है। चैम्बर द्वारा प्रेषित सभी समस्याओं पर सकारात्मक कार्यवाही की जाएगी। जो समस्याऐं हमारे अधिकार क्षेत्र में आती है। उन्हें हम शीघ्र दूर करने का प्रयास करेंगे और जो समस्याऐं उच्च स्तर पर निस्तारित की जानी है। उन्हें उचित स्तर पर अग्रसारित किया जाएगा। राष्ट्र के विकास में यह आवश्यक है कि अधिक से अधिक संख्या में आयकर जमा करें। उन्होंने अपील की कि वर्तमान करदाता अपने व्यापरिक क्षेत्र में कार्यरत ऐसे व्यापारियों को जागृत करें जो आयकर विवरणी नहीं भर रहें है। करदाताओं की संख्या में वृद्धि होने पर कर की दर स्वतः ही कम हो जाएगी जिससे वर्तमान करदाताओं पर कर भार में कमी आएगी और राष्ट्र को अधिक मात्रा में कर संग्रह हो सकेगा। कर आधार का विस्तार करने के लिए उन्होंने कहा कि अमीर किसानों को भी कर देना चाहिए। करदाताओं की समस्याओं पर ध्यान देते हुए कहा कि अधिकार क्षेत्र से परे केस के ट्रांसफर होने पर पैन नं0 भी उसी अधिकार क्षेत्र को शीघ्र ट्रांसफर किये जाने का प्रयास रहता है। श्रीमती सीमाराज द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि 2002-03 में समूचे देश में कुल कर संग्रह का 38.50 प्रतिशत योगदान आयकर विभाग का था जो 2016-17 में 50 प्रतिशत हो गया है। पिछले साल कुल आयकर कलैक्शन  लगभग 8.5 लाख करोड़ था। आगरावासियों को धन्यवाद देते हुए कहा कि यह गर्व की बात हैं कि आगरा में हमेशा निर्धारित टारगेट को पूरा ही नहीं बल्कि टारगेट को एक्सीड किया गया हैं। इस वर्ष आगरा का टारगेट बढ़ाकर 472 करोड़ कर दिया गया है। मुझे आशा है कि टारगेट को पूरा ही नहीं बल्कि एक्सीड किया जाएगा। करदाताओं की संख्या में वृद्धि करने पर जोर दिया गया और बताया गया कि सरकार द्वारा करदताओं को सुविधाऐं प्रदान की जा रही हैं। आयकर सेवा केन्द्र खोल दिए गए है। ई-फाइलिंग और ई-एसिमेन्ट की सुविधा भी उपलब्ध हो गई है। रिफन्ड आपके खाते में स्वतः ही आ जाते हैं और शिकायतों का निवारण भी शीघ्र हो जाता है। यदि कोई करदाता सही कर जमा नहीं करता है या आयकर विवरणी दाखिल नहीं करता है तो विभाग के पास विभिन्न स्रोत्रों जैसे- बैंक खाता, शेयर या क्रेडिट कार्ड, वाहन का क्रय या सम्पत्ति का क्रय आदि की जानकारी प्राप्त होती रहती है। ऐसे में इन लोगो पर कार्यवाही करना विभाग की मजबूरी हो जाती है। उपायुक्त आयकर श्रीमती ज्योत्सना देवी ने अपने उद्बोधन में कहा कि करदाता समय से सही कर जमा करें। सैल्फ एसेसमेन्ट से करदाताओं को अधिक कर जमा करना पड़ता है। सरकार का आदेश है कि जो करदाता समय से कर जमा कर रहे है। उन्हें सुविधा प्रदान की जाए और जो कर जमा नहीं कर रहे है। उन्हें दण्डित किया जाए।
कार्यक्रम का संचालन चैम्बर के पूर्व अध्यक्ष एवं आयकर प्रकोष्ठ के चेयरमैन श्री अनिल वर्मा द्वारा किया गया। श्री वर्मा जी द्वारा उद्यमियों व व्यापारियों के हित में संलग्न प्रतिवेदन में वर्णित मुख्य बिन्दुओं पर प्रकाश डालते हुये आवश्यक कार्यवाही का निवेदन किया गया। श्री अनिल वर्मा ने अपने उद्धबोधन में कहा कि हमारे मध्य उपस्थित प्रधान आयकर आयुक्त-2, श्रीमती सीमाराज एवं उपायुक्त आयकर श्रीमती ज्योत्सना देवी, आईआरएस द्वारा जो संन्देश दिया गया है वह वास्तव में करदाताओं के हित में है और आशा की कि उनके द्वारा दिए गए आश्वासन के अनुसार करदाताओं के हित में विभागीय कार्यवाही की जाएगी। धन्यवाद ज्ञापन पूर्व अध्यक्ष श्री सीताराम अग्रवाल द्वारा किया गया। श्री सीताराम अग्रवाल ने आयकर अधिकारियों से अपील की कि बड़े आयकरदाताओं को सम्मानित किये जाने के लिए विभाग द्वारा कार्यक्रम बनाये जाए जिससे करदाताओं में जागृति उत्पन्न हो।
सभा में आयकर विभाग से प्रधान आयकर आयुक्त-2, श्रीमती सीमाराज, आईआरएस एवं उपायुक्त आयकर श्रीमती ज्योत्सना देवी, आईआरएस, हरिबाबू वर्मा, राकेश बाबू, राकेश शर्मा, हरिओम सिंह, अजय दुबे, वरूण सरकार, राकेश मोहन, योगेन्द्र मोहन आदि उपस्थित थे।
नेशनल चैम्बर से अध्यक्ष नरिन्दर सिंह, उपाध्यक्ष द्व राजीव अग्रवाल, अनूप गोयल, पूर्व अध्यक्ष एवं आयकर प्रकोष्ठ चेयरमैन अनिल वर्मा, पूर्व अध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल, सीताराम अग्रवाल, प्रदीप कुमार वाष्र्णेय, सोहन लाल जैन, विनोद कुमार गुप्ता, अमर मित्तल, अतुल कुमार गुप्ता, अशोक कुमार गोयल, सदस्यों में दयाल सरन एडवोकेट, अनिल अग्रवाल(दास), दीपक महेश्वरी, के.एन. खन्ना, नरेन्द्र तनेजा, रामरतन मित्तल, अवनीश कौशल, अनूप गोयल, अशोक अरोरा, सुरेशचन्द बंसल, मुनीष कुमार गुप्ता, श्यामसुन्दर अग्रवाल, जयकिशन गुप्ता, मनोज बंसल, विनय मित्तल, अमित जैन, विजय खन्ना, विजय कुमार गुप्ता, राजेन्द्र गर्ग, अवनीश कौशल, चन्द्र दौलतानी, वी.के. वाष्र्णेय, राजीव मित्तल, अरविन्द सिंह, अखिलेश गोयल, शैलेश गोयल, राकेश मित्तल, पंकज शर्मा, ए.एस. खण्डेलवाल, संजय अग्रवाल, राजकिशोर, मीडिया प्रभारी अनूप जिन्दल, मुकेश शर्मा, राजेश वर्मा, ललित वर्मा, सुरेन्द्र कुमार जैन, शैलेश अग्रवाल, नरेन्द्र बंसल, काकाजी, राहुल जैन, अनूप मित्तल आदि मुख्य रूप उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!