Home > Aligarh > मेडीकल कालेज मे होगा टाईरेप टैक्निक से इलाज

मेडीकल कालेज मे होगा टाईरेप टैक्निक से इलाज

माथे, हाथ या पैर पर मौजूद गहरे घावों को बगैर
टांके सिलाई के भरने तथा मिटाने के लिये होगा प्रयोग
अलीगढ़ 27 अक्टूबरः अमुवि के जेएन मेडीकल कॉलेज के प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रो. इमरान अहमद ने माथे, हाथ या पैर पर मौजूद गहरे घावों को बगैर टांके सिलाई के भरने तथा मिटाने के लिये टाईरेप टैक्निक का प्रयोग शुरू किया है जो निर्धन रोगियों के लिये अत्यधिक सहायक है।शेरे कश्मीर इंस्टयूट ऑफ मैडीकल साइंसेज श्रीनगर में आयोजित 13वीं नोर्थ जोन एसोसिएशन ऑफ प्लास्टि सर्जन्स ऑफ इण्डिया कांफ्रेंस-2017 में प्रो. इमरान के टाइरेप मैथड पर आधारित शोध पत्र तथा पोस्टर प्रस्तुत करने पर जवाहर लाल नेहरू मेडीकल कॉलेज के एनसीएच (प्लास्टि सर्जरी) के छात्रों को खूब सराहना मिली।प्रो. इमरान अहमद की निगरानी में कार्य करने वाले छात्र डॉ. ब्रजेश पाठक को उनके शोध पत्र के लिये प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया जबकि प्लास्टि सर्जरी विभाग के अध्यक्षक प्रो. एम यासीन तथा डॉ. फहद खुर्रम की निगरानी में कार्य करने वाले डॉ. सुधीर कुमार मोर्या ने बेहतरीन पोस्टर प्रजेंटेशन का पुरस्कार जीता। इनके अतिरिक्त डॉ. शेख सरफराज अली तथा डॉ. तफज्जुल शेख ने भी कांफ्रेंस में भाग लेकर शोध पत्र एवं पोस्टर प्रस्तुत किया। कांफ्रेंस में उनकी प्रस्तुति को अत्यधिक सराहा गया तथा उन्हें प्रतीक चिन्ह, सर्टीफिकेट के साथ नकद पुरस्कार से सम्मानित किया गया।प्रो. इमरान अहमद ने बताया कि टाईरैप को आवश्यकतानुसार रोगी के घावों के किनारों पर लगा दिया जाता है और इसमें रोगी के आपरेशन करने की बहुत कम नौबत आ पाती है। उन्होंने कहा कि इसका खर्च भी न्यूनतम आता है और यह गरीब रोगियों जो कि आर्थिक कारणों से सर्जरी नहीं करा पाते बहुत कारगार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!