Home > Bulandshahr > गौतमबुद्ध नगर लोकसभा के लिए कई दिग्गज ठोक रहे हैं ताल

गौतमबुद्ध नगर लोकसभा के लिए कई दिग्गज ठोक रहे हैं ताल

Prasoon Bajpai 
खुर्जा। गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट से वर्तमान सांसद एवं केंद्रीय डाॅ. महेश शर्मा का टिकिट कट सकता है। क्योंकि इस सीट पर पंकज सिंह, नवाब सिंह नागर व गोपाल कृष्ण अग्रवाल भी टिकिट की लाईन में लगे हैं। हालांकि वर्तमान सांसद इस समय केंद्रीय मंत्री भी हैं। इसलिए उनका टिकिट कटना मुमकिन नहीं माना जा रहा है। लेकिन क्षेत्र में चर्चा का विषय बना है कि इस बार गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट पर कोई दिग्गज अन्य चेहरा हो सकता है। हालांकि एनआरईसी काॅलिज के प्रोफेसर अजय छौंकर भी इस बार गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने को लेकर काफी चर्चाओं में हैं। लेकिन अब देखना यह है कि भाजपा हाईकमान गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट से किसको मैदान में उतारते हैं। इसके अलावा बुलंदशहर के वर्तमान सांसद डाॅ. भोला सिंह और मीनाक्षी सिंह एडवोकेट एवं होराम सिंह के बीच भी टिकिट के लिए कड़ी टक्कर चल रही है। सूत्रों की मानो तो भाजपा हाईकमान का मन इस बार दोनों ही सीटों के प्रत्याशियों को बदलने का है। बुलंदशहर लोकसभा सीट पर यदि प्रदेश की महिला मोर्चा की मंत्री मीनाक्षी सिंह एडवोकेट को बुलंदशहर लोकसभा से चुनाव लड़ने का मौका मिलता है तो भाजपा बुलंदशहर लोकसभा सीट पर पुनः अपना दबदबा कायम रखेगी। इसके अलावा यदि डा. भोला सिंह या होराम सिंह को चुनाव लड़ने का मौका मिलता है तो यह नहीं कहा जा सकता कि बुलंदशहर सीट भाजपा की झोली में आती है या नहीं। क्योंकि डाॅ. भोला सिंह वर्तमान में भाजपा के सांसद हैं वहीं होराम सिंह पूर्व में गौतमबुद्ध नगर के जेवर क्षेत्र से विधायक रह चुके हैं। इस कारण इन दोनों ही दिग्गज नेताओं के कार्यकाल की पूर्ण जानकारी जनता को है। इस कारण बुलंदशहर लोकसभा सीट पर दोनों ही प्रत्याशी चुनाव लडने को लेकर सक्षम हैं परंतु क्षेत्र में चर्चा का विषय बना है कि दोनों ही दिग्गज नेताओं के बीच की लडाई में कहीं बाजी मीनाक्षी सिंह एडवोकेट मारकर न ले जाएं। भाजपा हाईकमान द्वारा अभी तक प्रत्याशियों की घोषणा नहीं की गई है। जबकि सपा बसपा व रालोद गठबंधन ने अपने प्रत्याशियों को मैदान में उतार दिया है। कांग्रेस और भाजपा द्वारा अभी तक अपने प्रत्याशियों को इन दोनों ही सीटों पर मैदान में नहीं उतारा गया है। जिस कारण दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ताओं के मनों में दिन प्रतिदिन बेचैनी बढ़ती जा रही है। गठबंधन प्रत्याशी सतवीर नागर क्षेत्र में तेजी से जनसंपर्क अभियान चला रहे हैं। परंतु गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट को गठबंधन प्रत्याशी के लिए जीतना लोहे के चने चबाने के बराबर होगा। जिस दिन भाजपा एवं कांग्रेस अपने पत्ते खोलेगी तो गठबंधन प्रत्याशी खुद-ब-खुद पिछड़ते नजर आ सकते हैं। क्योंकि इस बार मोदी लहर को देखा जा रहा है। आगामी चुनाव हो सकता है मोदी बनाम राहुल गांधी हो। अन्य राजनीति दल के प्रत्याशी ताश के पत्तों की तरह ना बिखर जाएं। गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट से बसपा गठबंधन ने सतवीर नागर को मैदान में उतार दिया। यदि भाजपा से किसी भी गूर्जर को मैदान में उतारा गया तो बसपा की मुश्किल बढ़ सकती हैं। इसके अलावा भाजपा से भी तेज सिंह गूर्जर भी गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट के लिए ताल ठोक रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अभी हाल में ही अरनियां में टीएचडीसी प्लांट को हरी झंडी देकर जनता का रूझान फिर से एक बार अपनी ओर कर लिया है। इसलिए हो सकता है कि गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट भाजपा के खाते में ही जाए। चाहें इस सीट पर कोई भी प्रत्याशी हो परंतु संभावना जताई जा रही है कि भाजपा प्रत्याशी इस सीट पर अपना कब्जा बरकरार जारी रखेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!