Home > Aligarh > ग्रामीणों को लाकर प्रधान पक्ष ने किया कोर्ट की कार्यवाही मे दबाव बनाने का प्रयास

ग्रामीणों को लाकर प्रधान पक्ष ने किया कोर्ट की कार्यवाही मे दबाव बनाने का प्रयास

भारी पुलिस फोर्स की मौजूदगी देख घबडाये ग्रामीण
कोर्ट में हो रही है लोकतंत्र की हत्या-प्रधानपति

राजीव गौतम, खैर। परगनाधिकारी न्यायालय में बहस में लगी पत्रावली पर मनमाफिक आदेश कराने की गरज से घरबरा प्रधान प़क्ष के समर्थन में शुक्रवार को सेंकडों लोग तहसील परिसर में इकठठा हो गये। ग्रामीणों की संख्या देख एसडीएम खैर ने कई थानों की पुलिस व पीएसी बुला ली। काफी देर के हंगामे के बाद एसडीएम व नवागत सीओ खैर ने प्रधान पति समझा बुंझाकर व जिले में लागू धारा 144 का हवाला देकर वापस जाने को कहा। पुलिस फोर्स व अधिकारियों की मौजूदगी देख ग्रामीण हंगामा करने की हिम्मत नही जुटा पाये और वापस चले गये।

धरना कर रणनीति बनाते घरबरा गांव के लोग

बता दें कि विकास खण्ड टप्पल के घरबरा ग्राम पंचायत के 5 दिसम्बर 2015 को हुये चुनाव में मंजू देवी पत्नी पे्रम सिंह जाखड सहित अन्य ने चुनाव लडा था। 13 दिसम्बर 2015 को हुई मतगणना में मंजू देवी ने शकुंतला देवी को बीस वोटोे से हराकर प्रधानी हासिल की थी। हारे हुये पक्ष ने एसडीएम कोर्ट में मुकदमा दायर किया था। कोर्ट के आदेश पर 4 मई 2017 को तहसील परिसर में पुनःमतगणना हुई थी। जिसमें 153 मत खारिज हो गये थे और शकुतंला देवी ने मंजू देवी को हरा दिया था। एसडीएम कोर्ट के निर्णय के खिलाफ मंजू देवी ने हाईकोर्ट में गुहार लगाई थी। हाईकोर्ट के आदेश के अनुपालन में एसडीएम कोर्ट में मुकदमे की फिर से सुनवाई शुरू हो गई और शुक्रवार को पत्रावली में बहस होनी थी।

घरबरा प्रधान पति पे्रम सिंह को समझाते सीओ पंकज कुमार श्रीवास्तव, निकट मौजूद एसडीएम अरविंद कुमार सिंह व पुलिस

मौजूदा प्रधान मंजू देवी के पति पे्रम सिंह ने एसडीएम कोर्ट पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगाते हुये सेंकडों ग्रामीणों के साथ तहसील परिसर में धरना शुरू कर दिया। धरने में दर्जनों ग्राम प्रधान व पूर्व चेयरमैन मनवीर सिंह सहित अन्य राजनैतिक लोग भी शामिल हो गये। ग्रामीणो की अधिक संख्या देख एसडीएम खैर ने कई थानों की पुलिस व पीएसी बुला ली। एसडीएम ने जिले में धारा 144 लागू होने का हवाला देते हुये तत्काल धरना समाप्त कर परिसर से वाहर जाने को कहा। इसी बीच नवागत सीओ पंकज कुमार श्रीवास्तव भी आ गये। दोनों ने ग्रामीणों को समझाया। वाद में पांच लोगों के प्रतिनिधिमंडल ने एसडीएम, सीओ से वार्ता की जिस पर सहमति बन गई। उक्त मामले में एसडीएम अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि कोर्ट में चल रहे मुकदमे को प्रभावित करने के लिये गांव घरबरा के प्रधान पति ग्रामीणों को लेकर आये थे। उन्होने कोर्ट की कार्यवाही निष्पक्ष, पारदर्शिता व साक्ष्यों के आधार पर करने का आश्वासन प्रधान पक्ष को दिया है। जिससे प्रधान पक्ष सहमत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!