Home > Aligarh > मंगलायतन विवि में बजट पर हुई परिचर्चा

मंगलायतन विवि में बजट पर हुई परिचर्चा

इगलास। मंगलायतन विश्विद्यालय में इंस्टिट्यूट ऑफ बिजनेस मैनेजमेंट और पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग द्वारा बजट पर परिचर्चा का आयोजन किया गया। सभी प्रतिभागियों ने सरकार द्वारा पेश किए गए बजट की सहराना की।
बजट के प्रति मानविकी संकाय के डीन प्रो. शिवाजी सरकार ने कहा कि हर भारतीय किसी न किसी रूप में 70 प्रतिशत टैक्स देता है। यहां तक की एक भिखारी को भी टैक्स देना पड़ता है। बजट पूरी तरह से चुनावी बजट है, जिसमें देखा जाए तो जीडीपी ग्रोथ नहीं दिख रही है। हालांकि किसानो को फायदा पहुंचाने की एक अच्छी कोशिश है। आईबीएम के विभागाध्यक्ष डॉ. राजीव शर्मा ने कहा कि आयुष्मान भारत जैसी योजनाओं में पैसा लगाकर मध्य वर्ग को फायदा पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। इससे उच्च वर्ग को दूर रखा गया है। चुनाव से दो माह पूर्व नीति निर्धारण से चुनावी मंशा साफ दिखाई देती है। इंजीनियरिंग संकाय के डीन प्रो. आरिफ सोहेल ने कहा कि किसान शिक्षित न होने से बजट का लाभ सीधे तौर पर नहीं ले पाता है। फार्मेसी के विभागाध्यक्ष प्रो. लाल रत्नाकर ने कहा कि आयुष्मान जन औषधि जैसी योजनाएं कारगर हो रही है। शिक्षा एवं शोध के निदेशक डॉ. दिनेश पांडे ने व्यवस्थाओं में स्पष्ट सिद्धांत की कमी की बात कही। वहीं प्रो. विकास कौशिक, डॉ. दिनेश शर्मा, प्रो.अली आर फतेहि, डॉ. आरके शर्मा आदि ने भी बजट पर अपने विचार रखे। आईबीएम, आईईआर, लॉ विभाग और पत्रकारिता विभाग के छात्र-छात्राएं चारु, अक्षय जैन, भावना, रोहित, आयुषी रायजादा, नेहा चैधरी, चंचल सिंह, इरम खान, रोहित वाष्र्णेय, वैभव सेठ, मधुर उपाध्याय, देशना जैन, अस्मिता जैन आदि ने बजट पर प्रश्न रखे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!