Home > Aligarh > “भारतीय भाषाओं और साहित्य पर वैश्वीकरण का प्रभाव“ विषय पर इस सेमिनार का आयोजन 11 और 12 फरवरी को

“भारतीय भाषाओं और साहित्य पर वैश्वीकरण का प्रभाव“ विषय पर इस सेमिनार का आयोजन 11 और 12 फरवरी को

अलीगढ़ 9 फरवरीः अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के आधुनिक भारतीय भाषा विभाग के मराठी सेक्शन की ओर से “भारतीय भाषाओं और साहित्य पर वैश्वीकरण का प्रभाव“ विषय पर इस सेमिनार का आयोजन 11 और 12 फरवरी को कला संकाय के सभागार में किया जा रहा हैं। इस राष्ट्रीय संगोष्ठी में संपूर्ण भारत से नामचीन साहित्यकार, भाषाविद, अनुवादक और विचारक भाग ले रहे हैं। चर्चा सत्र में 65 से अधिक शोधार्थी पत्र प्रस्तुत करेंगे। 11 फरवरी को सुबह 10ः00 बजे कुलपति प्रोफेसर तारिक मंसूर उद्घाटन सत्र मंे मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित रहेंगे। वक्ता के रूप में मानव संसाधन विकास केंद के निदेशक प्रोफेसर अब्दुल रहीम किदवई तथा राजस्थान केंद्रीय विश्वविद्यालय के हिंदी विभाग के डा0 संदीप रनभिरकर अपने विचार व्यक्त करेंगे। उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता कला संकाय के अधिष्ठाता प्रोफेसर मसूद अनवर अल्वी करेंगें।

इस संगोष्ठी में महाराष्ट्र, हरियाणा, जम्मू कश्मीर, बंगाल, दिल्ली से भी वक्ता के तौर पर अपने शोध पर प्रस्तुत करेंगें, इस चर्चा सत्र में दिल्ली विश्वविद्यालय के मंुशी मोहम्मद यूनुस, एमिटी यूनिवर्सिटी के डा0 सुनील मिश्रा अपने विचार व्यक्त करेंगे। इस राष्ट्रीय संगोष्ठी का समापन प्रो-वाईस चांसलर प्रोफे़सर हनीफ बेग की उपस्थिति में संम्पन होगा। समापन सत्र में अतिथि के तौर पर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वित्त लेखा अधिकारी प्रोफे़सर जावेद अख्तर और दिल्ली विश्वविद्यालय के आधुनिक भारतीय भाषा विभाग के डा0 वेंकटा रामैय्या भी उपस्थित होंगे। निदेशक और आयोजक डा0 ताहेर पठान, समन्वयक डा0 मुस्ताक अहमद जरगर डा0 अमीना खातून और चेयरपर्सन, प्रो0 टी0 सतीशन, ने सभी से इसमें भागेदारी का आग्रह किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!