Home > Bulandshahr > स्वयं सेविकाओं ने चलाई नशा मुक्ति की मुहिम

स्वयं सेविकाओं ने चलाई नशा मुक्ति की मुहिम

Prasoon Bajpai 
खुर्जा। नगर स्थित एकेपी पीजी कॉलेज के तत्वाधान में चल रहे एनएसएस शिविर में चैथे दिन कार्यक्रम अधिकारी प्रोफेसर साहिल के नेतृत्व में स्वयं सेविकाओं ने नशा मुक्ति की मुहिम चलाई। सर्वप्रथम सरस्वती मां की वंदना की उसके बाद लक्ष्य गीत गाया। इसके बाद सभी स्वयंसेवकिाएं बस्ती में शराबबंदी के नारे लगाते हुए घर-घर गईं। नारों में जो नशे का हुआ शिकार उसने फूंक दिया घर बार, बेटी कर रही पुकार पापा छोड़ दो शराब बीड़ी सिगरेट और शराब घर समाज को करे बेकार, 1234 शराब है सबसे खराब जैसे नारे लगाए गए। इसके बाद छात्राओं ने बस्ती के बच्चों को प्रतिदिन की भांति व्यायाम कराया तथा स्वयं सेविकाओं ने 3 वर्ष तक के बच्चों को कविताएं सिखाईं। जिसमें मां मुझको बंदूक दिला दो मैं भी लड़ने जाऊंगा इसके साथ ही साथ बच्चों को जोड़ना घटाना गुणा करना भाग करना भी सिखाया। शिविर में चल रहे हैंडराइटिंग पेंटिंग फोटो फ्रेम बनाना जैसे कार्य भी युवती और महिलाओं को सिखाए गए। साथ ही महिलाओं एवं बच्चों को खराब सामान का प्रयोग विभिन्न तरीके से करने की बात कही। महिलाओं व युवतियों को हेयर स्टाइल चोटी साइड रोल बनाना सिखाया। शिविर में फेशियल प्रतियोगिता महिलाओं ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। डायमंड गोल्ड फेशियल आदि का प्रशिक्षण देते हुए बताया कि इनके द्वारा महिलाएं आर्थिक रूप से मजबूत बन सकती हैं। शिविर के द्वितीय चरण में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें एकेपी पीजी कॉलेज की डॉ अनीता गर्ग, डॉ. गीता सिंह, रेखा ने अपने विचार व्यक्त किए और बस्ती की महिलाओं व युवतियों तथा लोगों को विचारों से लाभान्वित कराया साथ ही उन्हें शराब के दुष्प्रभावों के बारे में बताएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!