Home > Breaking News > शौचालय निर्माण में शिथिलता बरतने वाले 9 सचिवों के निलम्बन की संस्तुतिःनिर्देश

शौचालय निर्माण में शिथिलता बरतने वाले 9 सचिवों के निलम्बन की संस्तुतिःनिर्देश

Neeraj Chakrpani 
हाथरस-11 दिसम्बर। जिलाधिकारी डा. रमाशंकर मौर्य ने स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत जनपद में बने शौचालयों के फोटों अपलोडिंग तथा पुनः किये गये बेस लाइन सर्वे के उपरान्त बनने वाले शौचालय के प्रगति की समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में की। समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने जनपद के औसत फोटो अपलोडिंग से कम हुए फोटों अपलोड वाले 26 ग्राम पंचायत सचिवों से अगामी शनिवार तक फोटों अपलोडिंग में तेजी लाने के निर्देश दियें।
जिलाधिकारी ने सभी एडीओं पंचायत तथा ग्राम पंचायत सचिवों से फोटो अपलोड को गम्भीरता से लेने के निर्देश दिये। उन्होने सभी ग्राम पंचायत सचिवों से फोटों अपलोंडिग में शिथिलता बरतने पर गम्भीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी। जिलाधिकारी ने सभी पंचायत सचिव से नयें बेस लाइन सर्वें में बनने वाली शौचालयों में तेजी लाने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि अगामी 15 जनवरी 2019 तक हर हालत में नये शौचालय बनना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि शौचालय निर्माण के दौरान शौचालय की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जायें। सभी शौचालय मानक के अनुसार ही बनाये जाये। इसके अलावा जिन पंचायत सचिव के फोटो अपलोड कम हुए है वह अगामी शनिवार तक अच्छी प्रगति करें। अन्यथा की स्थिति में कठोर कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी से सभी खण्ड विकास अधिकारियों के ब्लाक पर ही रहना सुनिश्चित करवाने के निर्देश दिये।
मुख्य विकास अधिकारी एस.पी. सिंह ने समीक्षा बैठक के दौरान 9 ग्राम पंचायत सचिव द्वारा बार बार चेतावनी के बावजूद फोटों अपलोडिंग में किसी भी प्रकार की प्रगति न होने पर सभी 9 ग्राम पंचायत सचिव के निलम्बन के संस्तुति की है। उन्होने 9 ग्राम पंचायत सचिव अजय कुमार, सत्यवीर सिंह, प्रशांत माहौर, प्रेम चन्द्र, दिनेश कुमार, चन्द्र प्रकाश, ईश्वर चन्द्र, प्रदीप गौतम तथा विप्ती सिंह के ग्राम पंचायतों में फोटों अपलोडिंग में किसी भी प्रकार की प्रगति न होने पर नाराजगी भी जाहिर की। उन्होने कहा कि नये बेस लाइन सर्वे के तहत बनने वाले शौचालयों के सत्यापन में कमी पाये जाने पर उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होेने कहा कि ऐसे ग्राम पंचायत जिसमें शौचालय हेतु धनिराशि की आवश्यकता है। वह सभी बजट मांग पत्र पंचायती राज कार्यालय में प्राप्त करा दें। जिससे धनिराशि आंवटन में किसी प्रकार की असुविधा न हों।
इस अवसर पर जिला पंचायत राज अधिकारी डिपिन कुमार, खण्ड विकास अधिकारी धनीराम शर्मा, डीपीसी योगेश सारस्वत, सहायक विकास अधिकारी पंचायती राज, ग्राम पंचायत सचिव तथा अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!