Home > Aligarh > इगलास पुलिस को खबर भी नहीं लगी, आबाकारी विभाग ने मारा छापा

इगलास पुलिस को खबर भी नहीं लगी, आबाकारी विभाग ने मारा छापा

छापे में भारी मात्रा में स्प्रिट व मिट््टी का तेल पकड़ा

इगलास। क्षेत्र के गांव साथिनी में आबकारी विभाग की टीम ने एक गोदाम में छापा मारकर भारी मात्रा में शराब बनाने के प्रयोग में लाई जाने वाली स्प्रिट के साथ ही मिट्टी का तेल व डीजल बरामद किया है।

इगलास के गांव साथिनी में ड्रम लदवाते एसडीएम।

आरोपी मौके से फरार हो गए। सूचना पर एसडीएम, पूर्ति निरीक्षक व कोतवाल भी मौके पर पहुंच गए।
एसडीएम अशोक कुमार शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि आबकारी विभाग की टीम को साथिनी में अबैध शराब बनाने की जानकारी मुखबिर द्वारा दी गई। जानकारी पर आबकारी निरीक्षक क्रमशरू चंद्रप्रकाश यादव, रामवीर सिंह, जगदबिका प्रसाद, पिंगाच त्रिपाठी हमराही अधीनस्थों के साथ मौके पर पहुंचे। यहां पर तेजवीर सिंह के गोदाम में 14 ड्रमों में भरी हुई दो हजार सात सौ लीटर स्प्रिट के साथ ही पांच ड्रमों में मिड्ढट्टी का तेल मिला। मिड्ढट्टी का तेल मिलने पर टीम ने इसकी सूचना उन्हें दी।

इगलास के गांव साथिनी में पकड़ी गई स्प्रिट।

सूचना पर पूर्ति निरीक्षक वीर सिंह तथा क्षेत्रीय पुलिस बल के साथ वह मौके पर पहुंचे। यहां से मिली स्प्रिट को आवकारी विभाग ने कब्जे में ले लिया तथा मिड्ढट्टी के तेल को पूर्ति निरीक्षक ने मौके से कब्जे में ले लिया। आवकारी विभाग की ओर से आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है। पूर्ति निरीक्षक वीर सिंह ने आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराने के लिए अनुमोदन हेतु रिपोर्ट डीएम को भेज दी है।

आखिर अबैध कारोबार से क्यों रहती है बेखबर  पुलिस इगलास
इगलास। क्षेत्र में इन दिनों स्थानीय पुलिस चर्चाओं में है। एक ओर पुलिस लूट व चोरी की घटनाए होने पर उन्हें छुपाने का प्रयास करते हुए रिपोर्ट दर्ज नहीं करना चाहती वहीं दूसरी ओर पुलिस क्षेत्र में चल रहे अबैध कारोबार से आखिर क्यों बेखबर रह जाती है। अभी कुछ दिन पहले ही कोतवाली के नजदीक आबकारी विभाग ने अबैध रुप से संचालित हो रही शराब की फैक्ट्री को पकड़ा था। वहीं आज एक बार फिर भारी मात्रा में स्प्रिट व तेल पकड़ा है। यहाॅ अपने आप में बडा सवाल यह है कि आखिर स्थानीय पुलिस को इन कारोबार की खबर नहीं लगती या जान बूझकर अंजान बनी रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!