Home > Aligarh > रजिस्टर मालिकान में फर्जी आदेश दर्ज होनेे से मचा हडकम्प

रजिस्टर मालिकान में फर्जी आदेश दर्ज होनेे से मचा हडकम्प

एसडीएम ने निरस्त किया फर्जी आदेश, आरके ने दर्ज कराई रिपोर्ट
Rajeev Gautam 
खैर। तहसील के गोपनीय रजिस्टर मालिकान में किसी जालसाज ने सक्रंमणीय भूमि को खतौनी में आवादी दर्ज कराने के लिये फर्जी अमलदरामद दर्ज कर दिया। तहसील द्वारा अमलदरामद शुदा खतौनी बैक पहुंची तो मामला उजागर हो गया। जानकारी पर एसडीएम खैर ने फर्जी आदेश को निरस्त करते हुये तत्कालीन आरके को कोतवाली खैर में अभियोग दर्ज कराने के निर्देश दिये है।
सोफा निवासी किसान ने तहसील मुख्यालय स्थित अधिवक्ता से अपनी कृषक भूमि को अकृषक (आबादी) घोषित कराने के लिये सम्पर्क किया। कुछ समय बाद अधिवक्ता द्वारा किसान को एसडीएम द्वारा आबादी घेाषित आदेश शुदा खतौनी दी गई। किसान द्वारा अकृषक भूमि पर ़ऋण के लिये आवेदन किया। बैंक द्वारा अकृषक भूमि का वारह साल का रिकार्ड तस्दीक कराया तो आबादी घोेषित करने वाले फर्जी आदेश की जानकारी हुई। मामला आरके कार्यालय तक पहुंचा तो हडकम्प मच गया। एसडीएम खैर ने फर्जी आदेश को निरस्त करते हुये दोषी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराये जाने के आदेश किये। एसडीएम के आदेश पर तत्कालीन आरके गिर्राज किशोर (वर्तमानी तैनाती तहसील कोल) ने शनिवार को खैर कोतवाली आकर रजिस्टर मालिकान में फर्जी अमलदरामद करने वाले अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ कार्यवाही हेतु तहरीर दी। इंस्पेक्टर खैर अरविंद राठी ने बताया कि एसडीएम खेैर के आदेश पर अज्ञात जालसाज के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। उक्त मामले में एसडीएम अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि तहसील के गोपनीय रजिस्टर मालिकान में फर्जी आदेश दर्ज करना गलत व सरकारी अभिलेखों से छेडछाड है। राजस्व अभिलेखों की बेहतर सुरक्षा के लिये अभिलेखागार प्रभारी को निर्देशित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!