Home > Breaking News > सर्राफ व्यापारी से चैथ में 20 किलो सोना मांगने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार

सर्राफ व्यापारी से चैथ में 20 किलो सोना मांगने वाले 3 आरोपी गिरफ्तार

पुलिस ने 3 आरोपी दबोचेः24 घण्टे में किया खुलासा

Neeraj Chakrpani 
हाथरस-30 अक्टूबर। शहर के एक सर्राफा व्यापारी से चैथ में 20 किलो सोना मागनें के आरोपी तीन बदमाशों को कोतवाली सदर पुलिस ने 24 घण्टे के अन्दर ही गिरफ्तार कर घटना का अनावरण करने में सफलता प्राप्त की है और तीनों आरोपियों को जेल भेजा है। चैथ मांगने वाले आरोपियों में एक सपा नेता का पुत्र भी शामिल है।
उक्त घटना का आज पुलिस कार्यालय पर खुलासा करते हुए पुलिस कप्तान जयप्रकाश यादव व अपर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ वर्मा ने प्रेस को बताया कि शहर के गली बख्तावर निवासी सर्राफा व्यापारी कालीचरन अग्रवाल पुत्र राजेन्द्र अग्रवाल की कन्हैया ज्वैलर्स के नाम लोहट बाजार में सर्राफा की दुकान है और उनके मोबाइल पर गत 26 अक्टूबर को किसी अज्ञात व्यक्ति ने तीन बार फोन कर उनका नाम पता पूछा था तथा 28 अक्टूबर को उक्त अज्ञात व्यक्ति का व्यापारी के फोन पर मैसेज आया कि वह दाउद इब्राहम गैंग से सम् बंधित हैं और हाथरस क्षेत्र में एक फैक्ट्री डालना चाहते हैं और मैसेज में 20 किलो सोना चैथ के रूप में मांगा गया। इसी दिन व्यापारी के फोन पर उक्त नम्बर से फिर फोन आया कि 20 किलो सोना अभी तक क्यों नहीं दिया तथा सोना न देने व पुलिस को सूचना देने पर जान से मार देने की बात कही गई। जिसके बाद तत्काल कोतवाली सदर में सर्राफा व्यापारी ने तहरीर देकर मुकद्दमा दर्ज कराया।
पुलिस कप्तान ने बताया कि कोतवाली पुलिस व सर्विलाँस प्रभारी व उनकी टीम द्वारा अथक प्रयास करके घटना का अनावरण करने मे सफलता प्राप्त की। उन्होंने बताया कि जिस नम्बर से व्यापारी को धमकी दी गयी थी उस नम्बर का कैफे सर्विलांस के माध्यम से प्राप्त किया गया। कैफे के आधार पर पता चला कि एक मोबाइल रिटेलर ने राधाकृष्ण सक्सैना का अंगूठा लगवाकर सिम को एक्टीवेट किया। एक्टिवेट सिम को केशव ने बिना आईडी लिये मुर्तजा कुरैशी पुत्र सपा नेता हाजी फजलुर्रहमान निवासी मधूगढी को दे दी। मुर्तजा ने अपने साथी नरेश वर्मा के मोबाइल में उक्त सिम डालकर दोनो ने संयुक्त रूप से कालीचरन ज्वैलर्स को 20 किलो सोना मांगने का मैसेज व्यापारी के नम्बर पर भेजा। सोना न देने पर जान से मारने की धमकी दी। रिटेलर केशव ने पूछताछ में बताया कि दो सिम मुर्तजा को दी थी। मुर्तजा ने अपनी आईडी बाद में देने को कहा था।
पुलिस कप्तान ने बताया कि प्रकाश में आये आरोपी नरेश कुमार वर्मा पुत्र मोतीराम वर्मा निवासी मुरसान गेट, मुर्तजा कुरैशी पुत्र हाजी फजलुर्रहमान निवासी मधूगढी मस्जिद वाली गली व केशव को आज कोतवाली सदर पुलिस व सर्विलांस टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया। पूछताछ की गयी तो आरोपी नरेश कुमार वर्मा के कब्जे से घटना में प्रयुक्त मोबाइल जिससे मैसेज किया गया था बरामद किया। सिम के बारे में बताया कि एक सिम मैसेज करने के बाद नरेश कुमार वर्मा ने बुलन्दशहर जाते समय खुर्जा में तोडकर फैंक दी तथा दूसरी सिम को मुर्तजा ने तोडकर कहीं फैंक दी। उक्त नरेश कुमार वर्मा पूर्व में भी मोटर साइकिल चोरी में जेल जा चुका है जिसकी आमशौहरत खराब है। उक्त नरेश कुमार वर्मा के पिताजी की भी लौहट बाजार में ज्वैलर्स की दुकान है और उसके पिता मोतीराम वादी मुकदमा कालीचरन के दोस्त है इसलिए नरेश कुमार वर्मा सर्राफा व्यापारी कालीचरन के बारे में सारी बाते जानता था।
पुलिस कप्तान के मुताबिक बाकी आरोपियों ने पूछताछ पर यह भी बताया कि इन्हे ये बात पता थी कि कालीचरन बहुत ही डरपोक टाइप का व्यक्ति है और धमकी में आकर घबराकर उनको सोना दे देगा परन्तु आरोपियों की यह योजना उस समय धरी की धरी रह गयी जब पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में पुलिस ने 24 घण्टे के अन्दर ही घटना का अनावरण कर दिया। यहां यह भी उल्लेखनीय है कि बदमाशो द्वारा दी गयी धमकी के बाद व्यापारी कालीचरन व उसका परिवार काफी भयभीत था जिसकी सुरक्षा के लिए थाना कोतवाली सदर पुलिस भी उसके मकान व दुकान के आस पास लगायी गयी थी। पूरे व्यापार मण्डल ने इस घटना के अनावरण के लिए पुलिस कार्य की भूरि-भूरि प्रसंशा की है।
उक्त खुलासा करने वाली पुलिस टीम में कोतवाली प्रभारी जसपाल पवार, सर्विलांस प्रभारी, सुधीर राघव, इंस्पेक्टर क्राइम सुरजन सिंह, एसआई अनिल यादव, सर्विलांस के सिपाही अजय कुमार, सचिन धामा व सचिन शर्मा शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!