Home > Aligarh > संजीवनी बूटी लाकर हनुमानजी ने बचाये लक्ष्मण के प्राण

संजीवनी बूटी लाकर हनुमानजी ने बचाये लक्ष्मण के प्राण

Rajeev gautam 
खैर। क्षेत्र की ख्यातिप्राप्त रामलीला मेला महोत्सव के तत्वाधान में गुरूवार को सुबेल पर्वत की झांकी, अंगद रावण सम्वाद, लक्ष्मण शक्ति, हनुमान जी का संजीवनी बूटी लाना, कुम्भकरण वध, मेधनाथ वध, सुलोचना सती लीला का मनोहारी मंचन किया गया। रामलीला में युद्व के दौरान मेघनाथ की शक्ति से लक्ष्मण मूर्छित होकर गिर पडे। भ्राता लक्ष्मण को बेहोश देख श्रीराम रोने विलखने लगे और कहने लगे कि अब में अयोध्या में माता को क्या कहकर मॅूह दिखाऊगां। श्रीराम को रोता विलखता देख हनुमानजी लंका जाकर सुषैन बैद्य को ले आये। सुषैन बैद्य ने कहा संजावनी बूटी से ही लक्ष्मण के प्राच बच सकते है। कई योजन दूर जंगल से हनुमानजी संजीवनी बूटी लेकर आये और लक्ष्मण को सुंधाई। लक्ष्मण जी की मूर्छा टूटते ही रामा दल में खुशी की लहर दौड गई। इस मौके पर अध्यक्ष अमित वर्मा, दिनेश वर्मा, विकास वर्मा, चन्द्रशेखर तौमर, विकास शर्मा, प्रतीक रावत, आदि का सहयोग रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!