Home > Breaking News > रामलीला महोत्सव में फड के फण्ड को लेकर फन्दा पैसा नहीं मिलने पर अनशन पर बैठे रामलीला कमेटी पदाधिकारीःआरोप

रामलीला महोत्सव में फड के फण्ड को लेकर फन्दा पैसा नहीं मिलने पर अनशन पर बैठे रामलीला कमेटी पदाधिकारीःआरोप

रामेश्वर ने की घोषणा, पैसा मैं दूंगाःअनशन समाप्त कराया

Neeraj Chakrpani 
हाथरस-12 अक्टूबर। सार्वजनिक धार्मिक सभा द्वारा संचालित श्री रामलीला महोत्सव के आयोजन में रामलीला फड में फण्ड को लेकर फन्दा पड गया है और आज इस फन्दे को लेकर रामलीला कमेटी व रामलीला महोत्सव संयोजक रामलीला मंच पर धरना पर ही नहीं बैठ गये बल्कि आत्मदाह की चेतावनी देते हुए तेल की कट्टी मंगा ली और फड का फण्ड नहीं मिलने के सत्ताधारी दल के लोगों पर आरोप लगाये लेकिन खबर पाकर पूर्व ब्लाक प्रमुख रामेश्वर उपाध्याय पहुंचे और आन्दोलनकारी पदाधिकारियों को समझाते हुए फड फण्ड से मिलने वाली धनराशि अपने पास से देने की घोषणा कर अनशन समाप्त कराया।
सार्वजनिक धार्मिक सभा द्वारा शहर के रामलीला वार्ड में रामलीला महोत्सव का आयोजन कराया जाता है तथा हर वर्ष रामलीला आयोजन हेतु संयोजक, सह संयोजक आदि पदाधिकारी चुने जाते हैं तथा रामलीला आयोजन हेतु शहर के समाजसेवियों द्वारा दान भी दिया जाता है तथा रामलीला महोत्सव सम्पन्न होने के उपरांत रामलीला मंच स्थल पर छोटे-छोटे दुकानदारों द्वारा अपने-अपने फड (दुकानें अस्थायी) लगाये जाते हैं और इन फड दुकानदारों द्वारा रामलीला कमेटी को साल भर किराया भुगतान रामलीला महोत्सव आयोजन के दौरान देने की परम्परा चली आ रही है और इस वर्ष रामलीला महोत्सव के दौरान अभी तक रामलीला कमेटी को फड एसोसियेशन द्वारा फण्ड नहीं दिये जाने से आज भारी बखेडा हो गया।
रामलीला कमेटी को फड एसोसियेशन से मिलने वाला फण्ड नहीं मिलने से फन्दा पड गया और आज रामलीला कमेटी प्रबंधक पवन गौतम, पूर्व अध्यक्ष एवं आयोजक संजीव पंडित तथा रामलीला महोत्सव संयोजक मुकेश दीक्षित भट्टा वाले, बलराम यादव अपने तमाम सहयोगियों आदि को लेकर आज सुबह श्रीकृष्ण लीला का मंचन होने के उपरांत रामलीला मंच पर ही अनशन/धरना पर बैठ गये तथा उन्होंने फड एसोसियेशन द्वारा मिलने वाले फण्ड में सत्ताधारी नेताओं द्वारा रोडा अटकाने का आरोप लगाया और रामलीला आयोजन को स्थगित करने की चेतावनी भी दी। बताया जाता है फड एसोसियेशन से मिलने वाला फण्ड लाखों रूपये का होता है।
रामलीला कमेटी पदाधिकारियों के अनशन को लेकर वहां पर लोगों की भीड लग गई और इस दौरान फड दुकानदारों व पदाधिकारियों में वार्ता भी हुई लेकिन कोई बात नहीं बनी और पदाधिकारियों का अनशन/धरना जारी रहा और फिर कमेटी के लोगों ने आत्मदाह की चेतावनी भी दी तथा इस दौरान रामलीला माइक पर जमकर आलोचना की गई।
उक्त घटनाक्रम की सूचना पाकर मौके पर पूर्व ब्लाक प्रमुख/जिला पंचायत सदस्य एवं रामलीला महोत्सव संरक्षक रामेश्वर उपाध्याय वहां पर आ गये और उन्होंने रामलीला कमेटी पदाधिकारियों को समझाया और उन्होंने कहा कि रामलीला कमेटी को फड एसोसियेशन से मिलने वाले फण्ड को वह देंगे की घोषणा की गई और पदाधिकारियों का अनशन समाप्त कराया।
इस दौरान उदयवीर शर्मा, सह संयोजक सुधीर पचैरी, अभिषेक उपाध्याय, पुष्पराज पचैरी, सिद्धार्थ भाटिया, बौबी यादव, राहुल चैधरी आदि तमाम लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!