Home > Aligarh > स्वतंत्रता के 70 वर्ष बाद भी नीरस है वाल्मीकि समाज

स्वतंत्रता के 70 वर्ष बाद भी नीरस है वाल्मीकि समाज

 

इगलास। देश की स्वतंत्रता के 70 वर्ष बाद भी वाल्मीकि समाज नीरस है। अपनी दुर्दशा के लिए स्वयं समाज के लोग जिम्मेदार है। क्योंकि हमारा समाज बिखरा हुआ है। इसका फायदा हमारी सरकारें उठाती हैं। बाबा साहब ने कहा था शिक्षित बनिये, संगठित रहीये और संघर्ष कीजिए। आज वाल्मीकि समाज के प्रत्येक व्यक्ति को संकल्प लेने की आवश्यकता है कि वह समाज को आगे बढ़ाने का काम करेगा। उक्त बातें अखिल भारतीय वाल्मीकि महासभा की ओर से किला खेड़ा स्थित वाल्मीकि मंदिर पर आयोजित कार्यक्रम में महासभा के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप चैहान ने कही। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष ने बनवारी लाल चैहान को जिलाध्यक्ष बनाए जाने की घोषणा की। अतिथियों का माला पहनाकर स्वागत किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता किशोरीलाल व संचालन कुंवरपाल ने किया। इस मौके पर हरप्रसाद, राम सिंह, वीरमपाल सिंह, पूरन सिंह, अशोक चोटाला, मुकेश कुमार, मनोज कुमार, वीरेन्द्र सिंह, छीतरमल सिंह, राधेश्याम, विनोद कुमार आदि थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!