Home > Bulandshahr > लोकनृत्य प्रतियोगिता का आयोजन छात्राओं दी ने शानदार प्रस्तुती।

लोकनृत्य प्रतियोगिता का आयोजन छात्राओं दी ने शानदार प्रस्तुती।

Prasoon Bajpai 
खुर्जा। शनिवार को एकेपी (पीजी) कालेज में साहित्यिक सांस्कृतिक परिषद के तत्वावधान में लोकनृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतिभागी छात्राओं ने संगीत विभाग के निर्देशन में लोकनृत्य प्रतियोगिता में मनमोहक प्रस्तुति देकर मंत्रमुग्ध कर दिया। सर्वप्रथम महाविद्यालय की प्राचार्या डाॅ. शशिप्रभा त्यागी ने मां सरस्वती की प्रतिमा के सम्मुख पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्ज्वलन कर प्रतियोगिता शुरू करायी। प्राचार्या ने कहा कि नृत्य भी मानवीय अभिव्यक्तियों का एक रसमय प्रदर्शन है। यह एक सार्वभौम कला है। जिसका जन्म मानव जीवन के साथ हुआ। छात्राओं ने अपनी प्रस्तुति के माध्यम से पंजाब के लोक नृत्य से अवगत कराया। वहीं प्रियंका सोलंकी ने पंजाबी लोकनृत्य की प्रस्तुति से मंत्रमुग्ध कर दिया। कु. अनम के राजस्थानी नृत्य पर छात्राआंे ने खूब तालियां बजायीं। चंद्रिका शर्मा ने पंजाबी गिद्धा, निकिता ने गढ़वाली लोकनृत्य प्रस्तुत किया। रवीना ने राजस्थानी संस्कृति की ऐसी छठा बिखेरी की सभी ताली बजाने को विवश हो गए। वहीं घूमर, कालवेलिया, फाग नृत्य से ओतप्रोत प्रतियोगिता का लुत्फ उठाया। प्रतियोगिता में 25 छात्राओं ने भाग लिया और भिन्न-भिन्न प्रदेशों के लोकनृत्य प्रस्तुत किए। कार्यक्रम का संचालन करते हुए साहित्यिक सांस्कृतिक परिषद की प्रभारी डाॅ. अनामिका द्विवेदी ने प्रतिभागी छात्राओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि संस्कृति के अलग-अलग रंग हैं। जो हमारे प्रदेश की सांस्कृतिक एकता के प्रतीक हैं। लोकनृत्य सामूहिकता की देन हैं। ऐसे में सिर्फ लोक संस्कृतियों का संरक्षण ही समाज में खत्म हो रही समरसता को वापस ला सकता है। प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में डाॅ. राधिका देवी, साहिल, डाॅ. गीता सिंह रहीं। प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर कु. शिवानी सक्सेना द्वितीय स्थान पर कु. प्रियंका सोलंकी एवं तृतीय स्थान पर भूमिका रहीं। इस अवसर पर डाॅ. अनीता गर्ग, डाॅ. सुषमा गौतम, श्रीमती नीलू सिंह, डाॅ. रेखा चैधरी, डाॅ. कल्पना माहेश्वरी, शर्मिष्ठा आदि मौजूद रहीं।
फो0 1 मंचासीन अतिथिगण।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!