Home > Aligarh > उत्तम क्षमा दिवस के साथ हुआ दशलक्षण पर्व का शुभारंभ

उत्तम क्षमा दिवस के साथ हुआ दशलक्षण पर्व का शुभारंभ

इगलास। मंगलायतन विश्वविद्यालय में स्थित श्री महावीर जिन मंदिर में दक्षलक्षण पर्व का शुभारंभ हुआ। पर्व के प्रथम दिन उत्तम क्षमा दिवस मनाया गया। विधिविधान के साथ पूजा व्रत किया गया।
मंगलायतन विवि के श्री महावीर जिन मंदिर में प्रातरू काल से ही शिक्षक व विद्यार्थी एकत्र हुए। सभी ने महावीर स्वामी के समक्ष पूजा-अर्चना की। दशलक्षण व्रत का शुभारंभ दशलक्षण विधान के मंगल कलश की स्थापना के साथ हुआ। सभी व्रती लोगों ने मिलकर कलश स्थापना की। विद्यार्थियों में भी व्रत को लेकर उमंग दिखाई दी। सभी ने जिनेन्द्र भगवान की भक्तिभाव से पूजा की। कार्यक्रम संयोजक मयंक जैन ने बताया कि जैन संप्रदाय में दशलक्षण पर्व का विशेष महत्व है। प्रथम दिन उत्तम क्षमा मांगी जाती है। उन्होंने बताया कि क्रोध के अभाव में प्रकट होने वाला मेरा सहज स्वभाव ही क्षमा है और बताया कि बाण के घाव से बच सकते हैं परंतु वाणी के घाव से कभी नहीं, उत्तम क्षमा जहां मन होई, अंतर बाहिर शत्रु न कोई। उन्होंने इन पंक्तियों के साथ क्षमा धर्म के बारे में विस्तार से बताया। कार्यक्रम में शिरकत करने आये उपकुलसचिव डा. मनोज राणा ने कहा कि दस दिन तक होने वाले इस पर्व में व्रती लोगों के लिए सभी सुविधायें विवि कर रहा है। संध्या काल में भी कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। जिनमें जिनेंद्र भक्ति, स्वाध्याय एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम किए गए। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में छात्रा भव्या और देशना ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। विधि-विधान की क्रियाएं कई छात्रों ने मिलकर पूर्ण करायीं। इस मौके पर नीलम, शशांक, सृष्टि, यांशी, चारू आदि ने सहभागिता की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!