Home > Aligarh > जवाहर लाल नेहरू मेडीकल काॅलेज के चिकित्सकों ने गैंगरीन से पीड़ित 55 वर्षीय रोगी के पैर की एंजियोप्लास्टी को सफलता पूर्वक दिया अंजाम

जवाहर लाल नेहरू मेडीकल काॅलेज के चिकित्सकों ने गैंगरीन से पीड़ित 55 वर्षीय रोगी के पैर की एंजियोप्लास्टी को सफलता पूर्वक दिया अंजाम

अलीगढ़ 14 सितम्बरः अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के जवाहर लाल नेहरू मेडीकल काॅलेज के चिकित्सकों ने गैंगरीन से पीड़ित 55 वर्षीय रोगी के पैर की एंजियोप्लास्टी को सफलता पूर्वक अंजाम दिया है और उसके पांव की बंद नसें खोलने में सफलता पाई है।

अमरोहा निवासी मरीज खलील अहमद काफी दिनों से गैंगरीन रोग से पीड़ित था और उसका दायां पैर का अंगूठा काला पड़ गया था और इसमें घाव भी था जो उपचार के बाद सही नहीं हो पा रहा था। उसके परिजन उसे मेडीकल काॅलेज लेकर आए जहाॅ पर उन्होंने कार्डियोथोरोसिक एण्ड वेसकुलर सर्जरी विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर डाॅ. आजम हसीन को दिखाया। जाॅच में पता चला कि रोगी के पैर की दोनों नसे अवरूद्व हो गयी हैं जिसके बाद उन्होंने कार्डियोलोजी सेंटर के डाॅ. मलिक मोहम्मद अजहर उद्दीन से परामर्श लिया बाद में डाॅ. मलिक अजहरउद्दीन ने रोगी की एंजियोप्लास्टी को सफलता पूर्वक अंजाम दिया।

डाॅ. मलिक मोहम्मद अजहर उद्दीन ने बताया कि इस प्रकार की एंजियोप्लास्टी को जेएन मेडीकल काॅलेज में पहली बार अंजाम दिया गया है और रक्त कोशिकाओं में रक्त के प्रवाह को ठीक करके रोगी के पैर को कटने से बचा लिया गया। उन्होंने बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जेएन मेडीकल काॅलेज प्रदेश का ऐसा मेडीकल काॅलेज बन गया है जहाॅ पर इस प्रकार की सुविधा उपलब्ध हो सकेगी।

कार्डियोलोजी सेंटर के निदेशक प्रो. आसिफ हसन ने चिकित्सकों को बधाई देते हुए कहा है कि सेंटर में भविष्य में सुपरस्पेशिलिटी ओपीडी और अन्य प्रकार के इंटरवेंशन भी प्रारंभ किये जाएंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!