Home > Breaking News > युवा भाजपा नेता डा. राजेश कुमार के निधन से भाजपा शोक में पंचतत्व में विलीन

युवा भाजपा नेता डा. राजेश कुमार के निधन से भाजपा शोक में पंचतत्व में विलीन

नीरज चक्रपाणि,हाथरस- पूर्व सांसद व विधायक डा. बंगालीसिंह के 45 वर्षीय पुत्र और वर्तमान सांसद राजेश दिवाकर के चचेरे भाई एवं भाजपा में युवा उभरते तेज तर्रार भाजपा नेता डा. राजेश कुमार सिंह की अल्प बीमारी के दौरान कल देर रात मथुरा के नयति हास्पीटल में मृत्यु हो गई। उनके निधन की खबर से पूरा जिले की भाजपा भारी शोक में डूब गई है और आज उनके अन्तिम दाह संस्कार में भाजपाईयों व समर्थकों के अलावा विभिन्न राजनैतिक दलों व सामाजिक संगठनों के लोगों का भारी हुजूम उमड़ पड़ा और हर कोई इस घटना को लेकर स्तब्ध व निशब्द था।
उल्लेखनीय है कि पूर्व सांसद डा. बंगालीसिंह के पुत्र व वर्तमान सांसद राजेश दिवाकर के सगे चचेरे भाई डा. राजेश कुमार सिंह भाजपा में कुछ ही समय में बुलन्दियों की ओर अग्रसर हो रहे थे और भाजपा में भाजपा अनुसूचित मोर्चा के जिलाध्यक्ष का दायित्व संभालने के बाद अभी हाल ही में पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी के निधन के उपरान्त जिले में आयी अटल कलश यात्रा के संयोजक थे। इसके अलावा भाजपा वृक्षारोपण अभियान के भी वह जिला संयोजक थे। जबकि उत्तर प्रदेश रजक महासभा के जिलाध्यक्ष होने के साथ-साथ लक्खी मेला श्री दाऊजी महाराज में संचालित होने वाले रजक समाज शिविर के संयोजक भी समाज द्वारा उन्हें चुना गया था और स्व. डा. राजेश का शिविर में इस बार लाखों रूपये के कार्यक्रम समाजोत्थान के लिये तैयारी की गई थी।
युवा वरिष्ठ भाजपा नेता डा. राजेश की बढ़ती लोकप्रियता शायद प्रकृति द्वारा प्रदत्त क्रूर काल को रास नहीं आई और दो दिन की अल्प बीमारी में ही उन्हें दुनिया से छीन लिया। उन्हें दो दिन पहले दस्त की शिकायत हुई थी। बाद में फेफड़े में संक्रमण भी हो गया था। तब उन्हें मथुरा में नयति हास्पीटल में दाखिल कराया गया था और बीती देर रात उपचार के दौरान ही अस्पताल में उनका निधन हो गया। डा. राजेश की हालत गम्भीर होने पर चिकित्सकों द्वारा उन्हें पहले ही दिन से वेन्टीलेटर पर ले रखा था।
उनकी मृत्यु की जानकारी मिलते ही सांसद राजेश दिवाकर और भाजपा जिलाध्यक्ष गौरव आर्य देर रात मथुरा पहुंच गये। इससे पहले सांसद और भाजपा जिलाध्यक्ष गौरव आर्य उनका हाल-चाल पूछने रविवार को ही मथुरा गये थे और वहां काफी देर तक रूककर आये थे। जब वह लौट रहे थे तो इस दौरान डा. राजेश कुमार सिंह की मृत्यु की जानकारी हुई तो सांसद फिर से मथुरा चले गये।
डा. राजेश कुमार सिंह मृत्यु हो जाने के कारण शोक में आज भाजपा के आयोजित होने वाले सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिये गये हैं। शोक में मोतीराम गैस्ट हाउस में होने वाला अभिनन्दन समारोह स्थगित कर दिया गया। आज ही सांसद राजेश दिवाकर को बागला जिला अस्पताल में जनऔषधि केन्द्र का उद्घाटन करना था जिसे भी स्थगित कर दिया गया।
वरिष्ठ युवा भाजपा नेता डा. राजेश कुमार सिंह का पार्थिव शरीर देर रात को उनके पैतृक गांव लाढ़पुर लाया गया तो गांव में भारी कोहराम मच गया और हर कोई उनके अन्तिम दर्शनों के लिये वहां पहुंचा और भोर होते ही जिले के अलावा अन्य जिलों से भी भाजपा व अन्य राजनैतिक दलों तथा सामाजिक संगठनों के सैकड़ों लोग उनके गांव पहुंच गये तथा सभी ने उनके अन्तिम दर्शन किये और उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की तदुपरान्त उनकी अन्तिम शवयात्रा भाजपा के झण्डे में लपेट कर बड़े ही गमगीन माहौल में निकाली गई तथा अन्तिम शवयात्रा में शामिल हर कोई व्यक्ति स्तब्ध व निशब्द दिखा तथा इस घटना पर बेहद अफसोस जताते हुए नजर आये। उनकी अंतिम शवयात्रा में हजारों की भीड शामिल थी और उनका अंतिम दाह संस्कार गांव के पास ही स्थित श्मशान भूमि पर किया गया जहां पर उनके करीब 11 वर्षीय पुत्र आर्यन सिंह द्वारा उन्हें मुखाग्नि दी गई। जबकि उनके पिता एवं पूर्व सांसद डा. बंगाली सिंह पुत्र के निधन से बहुत ही व्यथित व दुखी थे।
वरिष्ठ युवा भाजपा नेता डा. राजेश कुमार सिंह जिले भर के तमाम लोगों के दिलों पर अपनी अमिट यादें छोड गये हैं वहीं वह अपने पीछे अपने पिता-माता, पत्नी, पुत्री व पुत्र को रोता बिलखता छोड गये हैं। उनकी अंतिम शवयात्रा में सदर विधायक हरीशंकर माहौर, सिकन्द्राराऊ विधायक वीरेन्द्र सिंह राणा, पालिकाध्यक्ष आशीष शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष गौरव आर्य, ब्लाक प्रमुख अमर सिंह पाण्डेय, पूर्व जिलाध्यक्ष रामवीर सिंह परमार, पूर्व ब्लाक प्रमुख रामेश्वर उपाध्याय, दिनेश देशमुख, जिला पंचायत सदस्य संजय कुमार, सपा नेता युवराज सिंह यादव, बबलू यादव, रामवीर सिंह भैयाजी, धीरेन्द्र सिंह चैहान, दयाराम शीतल, मोरमुकुट गुप्ता, रामकुमार माहेश्वरी, ए.पी. सिंह, गोपाल कृष्ण शर्मा, राजेन्द्र नाथ चतुर्वेदी, संघ के जिला प्रचारक उमेशजी, मुकेश कौशिक, श्याम अग्रवाल, दिनेश शर्मा, अभिषेक रंजन आर्य, मा. सत्यपाल सिंह मदनावत, श्रीमती अखिलेश गुप्ता, संध्या आर्य, स्मृति पाठक, शालिनी पाठक, नंदिनी देवी, अशोक कुमार, अशोक अग्रवाल, ब्रजेश शुक्ला, ब्रजेश वशिष्ठ, अंकित गौड, कबाडी बाबा, सपा नेता रामनारायन काके, रमेश भारती, पप्पे यादव, सुनील कुशवाहा, मोनू राना, संजय सक्सैना, हरीशंकर राना भूरा पहलवान, ललित शर्मा लब्बू पंडित, सभासद विशाल दीक्षित, नारायनलाल, विवेक गुप्ता, प्रेमपाल सिंह सोलंकी, आचार्य महेन्द्र सिंह, डा. महेन्द्र पाल शर्मा, प्रशांत शर्मा, जितेन्द्र शर्मा जीतू, शहराध्यक्ष मूलचन्द्र वाष्र्णेय, सुनील गौतम, नयन कमल वाष्र्णेय, रूपेश उपाध्याय, राजकुमार शर्मा, लवकुश शर्मा, अविनाश तिवारी, रवि जोशी, शरद तिवारी, विनोद जी, चै. चन्द्रवीर सिंह, विशाल गुप्ता, भगवान सिंह भारती, जितेन्द्र कुमार, सुनीता वर्मा, लीलावती पुण्ढीर, सभासद बबिता वर्मा, मोहित शर्मा, विमल प्रधान, राजेश सिंह गुड्डू, ज्ञानेन्द्र शर्मा, दिनेश माहौर, तरूण राणा, राहुल राणा, तरून शर्मा, डा. बी.पी. सिंह, रतन गुप्ता, चै. श्याम सुन्दर, श्याम अग्निहोत्री, प्रधान नीरेश प्रताप सिंह, नरेश प्रधान, डा. एस.पी.एस. चैहान, बासुदेव माहौर, अरविन्द चैधरी, प्रेमसिंह कुशवाहा, नीरज वैश्य, प्रभात पचैरी सादाबाद, हरमेश गौतम, हेमंत गौतम, अशोक शर्मा सभासद, राजकुमार सिंह, रविकांत रवि, पुष्कर कुमार, मोहन पंडित, सुनीत आर्य के अलावा तमाम भाजपाई व अन्य दलों के तथा तमाम सामाजिक संगठनों के सैकडों लोग शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!