Home > Breaking News > खाद्य विभाग के फरमान से व्यापारियों में खलबली

खाद्य विभाग के फरमान से व्यापारियों में खलबली

नीरज चक्रपाणि,हाथरस– खाद्य विभाग की आयेदिन छापेमारी और अब खुला तेल, रिफाइण्ड आदि की बिक्री पर रोक लगाने से परेशान व्यापारियों ने बीती रात्रि को सदर विधायक से मुलाकात की और ज्ञापन सौंपा तथा अधिकारियों पर जनता व व्यापारियों में भाजपा का माहौल खराब करने के आरोप लगाये।
सदर विधायक हरीशंकर माहौर से बीती रात्रि को उनके आवास पर हाथरस तेल व्यापार एसोसियेशन के बैनरतले तमाम व्यापारी मिले और उन्हें ज्ञापन सौंपा तथा व्यापारियों का आरोप है कि कल 13 अगस्त को लगभग दोपहर के 3 बजे फूड एवं खाद्य विभाग की टीम जिसमें डी.ओ. देवाशीष उपाध्याय, चीफ हरेन्द्र सिंह व करीब 10 अधिकारी बाजार में आये और खाद्य तेल व वनस्पति के दुकानदारों को चेतावनी देते हुए कहा कि शासनादेश द्वारा सरसों तेल, सोया रिफाइण्ड, पाम आयल एवं समस्त खाद्य तेलों की खुली बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध लागू हो गया है। उन्हें शासन से तत्काल कार्यवाही जिसमें माल का सैम्पल भरना व सम्पूर्ण स्टाक को सील करना शामिल है कार्यवाही के आर्डर है।
व्यापारियों ने विधायक को बताया कि व्यापारी समाज हमेशा से भारतीय जनता पार्टी के साथ जुडा हुआ है और आगे भी जुडा रहेगा। व्यापारी सरकार द्वारा विगत वर्षो में नोट बंदी व जीएसटी की तमाम परेशानियों को झेलते हुए भी उभरने का प्रयास कर रहा है और सरकार को सहयोग करते हुए विगत वर्षो से अधिक राजस्व टैक्स के रूप में दे रहा है जो सर्वदा विदित है। बडे दुर्भाग्य की बात है कि सरकार की छवि को धूमिल करने के लिए फूड एवं खाद्य विभाग व्यापारियों का शोषण व उत्पीडन करने की मंसा से व्यापारियों को भयभीत कर प्रशासनिक अधिकारियों, उपजिलाधिकारी को साथ लेकर कार्यवाही करने की धमकी दे रहे हैं।
व्यापारियों ने विधायक से मांग की है कि अगले 6 महीने के अंतराल में लोकसभा चुनाव होने जा रहे हैं लेकिन अधिकारी लोग अपनी मानसिकता नहीं बदल पा रहे हैं और व्यापारियों का उत्पीडन कर शहर का माहौल खराब करने में लगा है तथा उक्त आदेश को शासन स्तर से समाप्त कराये जिससे व्यापारियों का रूझान भारतीय जनता पार्टी में पूर्व की भांति बना रहे।ज्ञापन देने वालों में मण्डल अध्यक्ष राधेश्याम अग्रवाल, जिलाध्यक्ष जगदीश पंकज, मनोज राया वाले, प्रदेश मंत्री, सुरेशचन्द्र आंधीवाल, राजीव वाष्र्णेय, नगर अध्यक्ष विष्णु गौतम, महामंत्री अनिल कुमार वाष्र्णेय, कमलकांत दोबरावाल, सुरेन्द्र वाष्र्णेय, विपुल सिंघानिया, तेल वनस्पति व्यापार से राजकुमार सासनी वाले, राजकुमार वाथम, गिर्राज किशोर बंसल, नीरज बौहरे, अरविन्द्र गुप्ता, संजय वाष्र्णेय, कन्हैयालाल, राकेश वाष्र्णेय, रोबिल वाष्र्णेय, अमित नरेश, विक्की, स्वदेश, हरीमोहन, प्रदीप शर्मा आदि थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!