Home > Aligarh > अलीगढ़ में सपा ने किसानो के साथ दिया धरना

अलीगढ़ में सपा ने किसानो के साथ दिया धरना

तत्काल कराया जाये गन्ना किसानों का भुगतानःअशोक यादव

अलीगढ़ 29 जुलाई। रविवार को गन्ना किसानों के हजारों करोड रूपये बकाया के विरोध में समाजवादी पार्टी ने लधौआ स्थित आनन्द एग्रो केम इंडिया लिमिटेट चीनी मिल के गेट पर सैकड़ो की संख्या में गन्ना किसानों व पार्टी पदाधिकारियों ने धरना दिया। धरने की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष अशोक यादव व संचालन जिला महासचिव कुंवर बहादुर बघेल ने किया।धरने को सम्बोधित करते हुये जिलाध्यक्ष अशोक यादव ने कहा कि देश में सबसेज्यादा मात्रा में गन्ना उ.प्र. में पैदा होता है। कड़ी मेहनत तथा भरपूर लागत लगाकर गन्ना किसान गन्ना पैदा करते हैं। वर्ष 2017-18 में प्रदेश के किसानों ने चीनी मिलों को गन्ना आपूर्ति की थी। वर्ष 2017-18 में गन्ना किसानों का पूरे प्रदेश में लगभग पन्द्रह हजार करोड रूपये चीनी मिल मालिकों द्वारा अभी तक भुगतान नहीं किया जा रहा। जबकि भाजपा सरकार का वादा था कि चौदह दिन के अन्दर ही प्रत्येक किसान का भुगतान करा दिया जायेगा। यदि किसी कारण चौदह दिन में भुगतान नहीं हुआ तो बकाया धन का ब्याज सहित भुगतान किया जायेगा। परन्तु भाजपा सरकार द्वारा गन्ना किसानों का भुगतान न कराना दुर्भाग्यपूर्ण एवं किसान विरोधी चरित्र को उजागर करता है।पूर्व शहर विधायक जफर आलम ने कहा कि प्रधानमंत्री ने हमेशा अपने मन की बात कही, लेकिन किसानों के मन की बात न सुनी और कही। 80 प्रतिशत आबादी किसानों की है और किसानों की फसल का भुगतान न करना बहुत ही निन्दनीय है। किसानों के हितों की बात सिर्फ और सिर्फ समाजवादी पार्टी करती है। आनन्द एग्रो कैम चीनी मिल ने किसानों के साथ धोखा किया है।पूर्व छर्रा विधायक ठा.राकेश सिंह ने कहा कि आनन्द एग्रो चीनी मिल पर 13.6 करोड मूलधन है जो कि ब्याज सहित 41.50 करोड़ है। मिल मालिक के शर्त अनुसार 50 लाख प्रतिमाह दिये जाने की बात थी जिसे भी पूरा न करते हुये 25 लाख प्रतिमाह भी कभी-कभी दिये जाते है। 14 माह में मात्र 4 करोड रूपये का ही भुगतान किया गया है। क्षेत्र के किसान कई बार गन्ना मंत्री सुरेश राणा से भी गुहार लगा चुके है लेकिन भाजपा सरकार के कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही।पूर्व अतरौली विधायक वीरेश यादव ने कहा कि गन्ना प्रदेश के बड़े क्षेत्र में लाखों किसान उगाते है तथा विगत वर्ष में आलू, गेंहू, धान के किसानों को अपनी उत्पादन लागत मूल्य न मिलने से भारी निराशा हुई, जिसके कारण दर्जनों किसान आर्थिक तंगी के कारण आत्महत्या कर चुके है, परन्तु भाजपा सरकार ने उनके परिवारों की कोई मदद नहीं की है, जो कि साफ दर्शाती है कि भाजपा किसान विरोधी है।मुजाहिद किदवई ने कहा कि शर्म आनी चाहिये भाजपा सरकार को गत दिनों पूर्व 26 हजार टन चीनी पाकिस्तान से मंगाई थी, लेकिन अपने यहां किसानों को गढ्डे में झौंक दिया। प्रदेश में गरीब, किसान, मजदूरों का कोई हितैषी है तो वह सिर्फ अखिलेश यादव हैं। आने में समय में जनता इसका सबक भाजपा सरकार को जरूर सिखायेगी।अंत में जिलाध्यक्ष अशोक यादव के नेतृत्व में सभी ने जिलाधिकारी के प्रतिनिधि के रूप में आये नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपते हुये मांग की है कि वर्तमान में अलीगढ़ जनपद के गन्ना किसानों का लगभग 34 करोड रूपया तथा उ.प्र. के गन्ना किसानों का पन्द्रह हजार करोड रूपया चीनी मिलों पर बकाया है का भुगतान तत्काल कराया जाये। 14 दिवसों में भुगतान न होने की स्थिति में ब्याज सहित गन्ना किसानों को गन्ना मूल्यों का भुगतान कराया जाये। भारत सरकार द्वारा 275 रूपये प्रति कुन्तल उचित एवं लाभकारी मूल्य (एफ.आर.पी.) घोषित लागत के हिसाब से कम है की दर में वृद्धि की जाये।धरने को महानगर अध्यक्ष जावेद अजीज, पूर्व महानगर अध्यक्ष अज्जू इश्हाक, शिशुपाल सिंह यादव, राजपाल यादव, संजय यादव, डा.रक्षपाल सिंह, जस्सू शेरवानी, सुभाष लोधी, बादशाह खान, पूरनमल प्रजापति, धर्मवीर सिंह, हिंद एग्रो के डायरेक्टर बिजेन्द्र सिंह, रंजीत चौधरी, कबीर खान, रामवती सिंह, शाकिर अंसारी, राजेश सैनी आदि ने सम्बोधित किया।धरने में गिरीश यादव, मनोज यादव, ठा.तेजवीर सिंह, शान मियां, राजीव यादव, पप्पू प्रधान, भगवान सहाय शर्मा, कासिफ आब्दी, अजय चौधरी, सुशील गौड, सत्यपाल लोधी, आदित्य सिकरवार, राधाकृष्ण शर्मा, मुंतजिम किदवई, साहिल रावत, संजय यादव, प्रमोद यादव, राकेश यादव, अर्जुन ठाकुर, शीलेन्द्र चौधरी, खान आसिफ, गोपाल बघेल, असलम फरीदी, सोहिल राईन, कृष्णा देवी, सुबूही खान, पूजा गौतम, नौरीन खान, नीतू शर्मा, सुमन शर्मा, सितारा बेगम, सुधा गुप्ता, मुराद बच्चन, जैकी ठाकुर, मदनलाल ठाकुर, राहत अली आदि सैकड़ो लोग उपस्थित रहे।
ष्

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!