Home > Aligarh > नियमों को ताक पर रखकर चल रही रोडवेज की तमाम बसें

नियमों को ताक पर रखकर चल रही रोडवेज की तमाम बसें

अलीगढ़। स्मॉग व कोहरा शुरू हुए सप्ताहभर बीत चुका है, लेकिन परिवहन निगम के इंतजाम अभी तक नहीं दिखाई दिए हैं। रोडवेज बसों में न फॉग लाइट लगी हैं और न टूटे इंडीकेटर बदले हैं। कई बसों में रिफ्लेक्टर टेप भी नहीं हैं। विभाग की यह लापरवाही कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकती है।
परिवहन निगम रीजन के अलीगढ़, बुद्ध विहार, अतरौली, नरौरा, हाथरस, कासगंज, एटा में कुल 708 बसों का संचालन करता है। करीब 350 नई लोहिया बसों व दिल्ली रूट की बसों को छोड़ दिया जाए तो अधिकतर रोडवेज बसों में इंडीकेटर टूटे हैं, वहीं कई में फॉग लाइट नहीं है। जिन बसों में फॉग लाइट लगी हैं, उनमें अधिकतर बल्ब खराब होने से शोपीस बनी हैं। कई बसों में शीशे भी टूटे हैं। अलीगढ़ डिपो की मेरठ रूट की यूपी 81 एफ 9188 बिना रिफ्लेक्टर टेप के ही दौड़ रही हैं। बुद्ध विहार डिपो की यूपी 81 एफ 2672 में सोमवार को फॉग लाइट भी नहीं थीं। यह दो बसें तो बस उदाहरण मात्र हैं। सैकड़ों बसें नियमों को ताक पर रखकर चल रहीं हैं।
रोडवेज बसों के चालान की संख्या नगण्य
रोडवेज की तमाम बसें नियमों को ताक पर रखकर चल रही हैं लेकिन परिवहन निगम के खिलाफ आरटीओ कोई कार्रवाई नहीं करता। मुख्यालय से निर्देश मिलने के बाद रिफ्लेक्टर टेप न होने पर परिवहन विभाग की प्रवर्तन टीम में एआरटीओ राजेश राजपूत व अमिताभ चतुर्वेदी ने करीब 150 चालान एक नवंबर से 12 नवंबर तक किए हैं, लेकिन इन चालान में रोडवेज बसों के चालान की संख्या नगण्य है। विभाग से जुड़ा हुआ होने के कारण विभाग रोडवेज बसों पर कार्रवाई से बचता है।
इनका कहना है….
सेवा प्रबंधक रोडवेज संजीव यादव का कहना है कि बसों में कोहरे को चीरने के लिए ऑल वेदर बल्ब सभी डिपो को उपलब्ध करा दिए हैं। दिल्ली रूट की बसों में यह बल्ब लग चुके हैं। लोकल रूट पर भी यह बल्ब शीघ्र लगेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!